Tuesday, May 21, 2024
HomeELECTIONOpposition Unity: 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में लगेगा अपोजिशन का मेला

Opposition Unity: 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में लगेगा अपोजिशन का मेला

Opposition Unity: महाराष्ट्र में एनसीपी में फूट के बाद अपोजिशन का अब 13-14 नहीं 17-18 जुलाई को बेंगलुरू में मेला लगेगा। बैठक में विपक्षी एकता के भविष्य का फॉर्मूला भी तय हो सकता है। 

Opposition Unity: बेंगलुरू में होने वाली यह बैठक पटना में जून में हुई पिछली बैठक में आए दलों के नेताओं की सहमति से हो रही है। इस बैठक में एनसीपी, राजद, जद(यू), झामुमो, शिवसेना (यूटीबी), डीएमके, वामदल, समाजवादी पार्टी, एनसी, पीडीपी, तृणमूल समेत अन्य की सहमति है। माना जा रहा है कि इस बैठक में विपक्षी एकता के भविष्य का फॉर्मूला एक आकार ले लेगा।

विपक्षी दलों की अहम बैठक अब 13-14 जुलाई की बजाय 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में होगी। विपक्ष की अगली बैठक बेंगलुरू में होगी। इस दौरान बैठक में लोकसभा सीटों के बंटवारे पर मंथन किया जाएगा। 

Opposition Unity: विपक्षी एकता की कवायद के बीच विपक्षी दलों की अहम बैठक अब 13-14 जुलाई की बजाय 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में होगी। विपक्ष की अगली बैठक बेंगलुरू में होगी। इस दौरान बैठक में लोकसभा सीटों के बंटवारे पर मंथन किया जाएगा। 

इससे पहले, कहा जा रहा था कि बैठक 12-13 जुलाई को होगी। इतना ही नहीं, बैठक के लिए हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला को चुना गया था। वहीं, बीच में बैठक के शिमला की जगह जयपुर में आयोजित किए जाने की खबर भी सामने आई थी। बाद में 13-14 जुलाई को बेंग्लुरू में बैठक होनी थी। महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के बाद ये बैठक अब 17-18 जुलाई को बेंगलुरू में होगी।

Opposition Unity: पवार ने कहा, जब पटना में विपक्षी दलों की बैठक हुई तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका में थे। इसके बाद स्वदेश लौटने पर उन्होंने विपक्ष पर हमला बोला, लेकिन देश का नज़रिया मौजूदा भाजपा सरकार के विपरीत है। इसलिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ज्वलंत मुद्दों से केवल ध्यान भटकाने के लिए यूसीसी लागू की कोशिश शुरू की है। 

Opposition Unity: पवार ने कहा, समान नागरिक संहिता लागू करने से पहले लोकसभा और राज्य की विधानसभा में महिलाओं के लिए आरक्षण लागू करना चाहिए। इसके साथ ही सिख, जैन और पारसी समाज की राय ली जाए। हमने सुना है कि सिख समाज की मानसिकता इसे समर्थन देने की नहीं है। इसके बाद ही एनसीपी इस पर समर्थन के बारे में विचार करेगी। विधि आयोग के निर्देशानुसार सभी से राय-मशविरा लेने के बाद इस पर कोई निर्णय लिया जाना चाहिए।

यह बैठक पटना में हुई पिछली बैठक में आए दलों के नेताओं की सहमति से हो रही है। इसमें एनसीपी, राजद, जद(यू), झामुमो, शिवसेना (यूटीबी), डीएमके, वामदल, समाजवादी पार्टी, एनसी, पीडीपी, तृणमूल समेत अन्य की सहमति है। माना जा रहा है कि इस बैठक में विपक्षी एकता के भविष्य का फॉर्मूला एक आकार ले लेगा।

Opposition Unity: पटना बैठक में शामिल विपक्षी दलों के एक महत्त्वपूर्ण सहयोगी ने संकेत दिया था कि सत्तारूढ़ एनडीए (नेशनल डेमोक्रैटिक एलायंस) के सामने विपक्ष अपने गठबंधन को पीडीए का नाम दे सकता है। इस पीडीए का विस्तार पेट्रियॉटिक डेमोक्रेटिक एलायंस हो सकता है। इसमें पेट्रियॉटिक शब्द जोड़कर विपक्ष यह बताने की कोशिश कर सकता है कि वे भाजपा से कहीं ज्यादा राष्ट्रवादी हैं। 

महाराष्ट्र की सियासत में हाईवोल्टेज ड्रामा जारी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) में अजित पवार की बगावत के बाद अब सीनियर और जूनियर पवार के बीच पार्टी पर कब्जे की जंग चल रही है। बगावत के तीसरे दिन मंगलवार (4 जुलाई) को महाराष्ट्र में दिनभर बैठकों का दौर चला। वहीं, डिप्टी सीएम अजित पवार और एनसीपी के उनके सहयोगी मंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहली बार कैबिनेट बैठक में शामिल हुए।

बैठक के बाद अजित पवार ने कहा कि कुछ भी नया नहीं था। हमने और मुख्यमंत्री शिंदे ने कैबिनेट में पहले ही एक साथ काम किया है। हमारे पास कैबिनेट का अनुभव है। उनमें से ज्यादातर उस कैबिनेट में मंत्री थे। विभागों के बंटवारे पर अजित पवार ने कहा, इसका फैसला मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे लेंगे। उन्होंने दावा किया कि एनसीपी के ज्यादातर विधायक उनके साथ हैं।

Read More…

Vidushi Kaushik: Opposition Unity: 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में लगेगा अपोजिशन का मेला election24x7.com: Opposition Unity: 17-18 जुलाई को बेंग्लुरू में लगेगा अपोजिशन का मेला
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments