Thursday, May 30, 2024
HomeLITERATURELUCKNOW PUSTAK MELA: लखनऊ के रवींद्रालय में सजेगा किताबों का मेला

LUCKNOW PUSTAK MELA: लखनऊ के रवींद्रालय में सजेगा किताबों का मेला

कला संस्कृति साहित्य की थीम भरेगी मेले में नया उत्साह
होंगे भव्य साहित्यिक, सांस्कृतिक और प्रतियोगितात्मक आयोजन

LUCKNOW PUSTAK MELA: रवीन्द्रालय चारबाग लान में दो मार्च से प्रारम्भ होने वाला लखनऊ पुस्तक मेला इस बार कई मामलों में विशिष्ट होगा। इसबार पुस्तक मेले की थीम कला संस्कृति साहित्य रखी गयी है। नयी पुरानी किताबों के इस निःशुल्क प्रवेश वाले मेले में जहां पुस्तक चर्चा, विमोचन होंगे वहीं अनेक आयोजनों के बीच विविधता भरे काव्य समारोहों और अध्यात्मिक व अन्य सांस्कृतिक समारोहों का क्रम लगातार चलेगा। महिला दिवस पर विशेष कार्यक्रम होंगे।

आयोजक मनोज सिंह चंदेल ने बताया कि एक तरह से ये भारतीय कला संस्कृति का पुनर्जागरण काल चल रहा है। हाल में दिल्ली में सम्पन्न विश्व पुस्तक मेले में उमड़ी भीड़ और गतिविधियों से भी हम उत्साहित हैं।

उन्होंने बताया कि 10 मार्च तक चलने वाले मेले के उद्घाटन के लिए कला और साहित्य से जुड़ी हस्तियों को आमंत्रित किया गया है। मेले में नई टेक्नालॉजी से छपी पुस्तकों के साथ मेले में डिजिटल टेक्नालॉजी से जुड़े प्रकाशन उत्पाद देखने को मिलेंगे साथ ही स्टेशनरी, टीचरों व स्कूलों के लिए उपयोगी सामग्री के स्टाल होंगे।

इस मेले में बहुत से नये प्रकाशक अपने साहित्य के साथ 10 हज़ार स्क्वायर फिट वाटर प्रूफ पंडाल में स्टाल होंगे। मेले में आने वाले प्रमुख प्रतिभागियों में सस्ता साहित्य मण्डल नई दिल्ली, प्रकाशन विभाग भारत सरकार, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी, नेशनल काउंसिल फार प्रमोशन आफ उर्दू लैंग्वेज नई दिल्ली, नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ इंडिया कोलकाता, अहा गुरु एजुकेशनल टेक्नोलॉजी चेन्नई, निखिल पब्लिशर्स आगरा, बोधरस प्रकाशन, दलित साहित्य केंद्र, श्रीरामकृष्ण मिशन, योगदा सत्संग ध्यान केन्द्र, हिन्दी वांगमय, पद्म बुक कंपनी, याशिका एंटरप्राइज़, जय बुक्स मुंबई, ऋषभ बुक्स, रितेश बुक कंपनी, आर्यन बुक सेलर्स, एंजेल बुक हाउस रायपुर, भारतीय कला प्रकाशन, मुक्ता बुक एजेंसी, सुभाष बुक स्टोर, तिरुमाला सॉफ्टवेयर, मेहता बुक्स पटना, यूनिवर्सल बुक स्टोर मिला कर लगभग अस्सी स्टालों से लखनऊ पुस्तक मेला सजेगा।

साहित्य कला संस्कृति को समर्पित मेले में मंच पर पुस्तक विमोचन, साहित्य चर्चा, काव्य पाठ, कहानी वाचन, सहित बच्चों एवम युवाओं के कार्यक्रम भी आकर्षण का केंद्र होंगे। उद्घाटन समारोह, लेखक से मिलिए, पुस्तक विमोचन, युवा कार्यक्रम, कवि सम्मेलन मुशायरा सांस्कृतिक आयोजनों के लिए लगभग 5 हज़ार स्क्वायर फिट का पाण्डाल लगाया जा रहा है।

मेला निदेशक आकर्ष चंदेल ने बताया कि मेले में कवि सम्मेलन-मुशायरे का आनन्द लेने के साथ लोगों को लेखकों-कवियों के साथ बात करने के मौके मिलेंगे ही साथ ही पुस्तक प्रेमियों के लिए बुक लवर्स लाउंज भी होगा। स्थानीय लेखकों की पुस्तकों के लिए भी एक स्टाल होगा।

मेले के बारे में सहसंयोजक व उत्तरप्रदेश ओलम्पिक संघ के संयुक्त सचिव टीपी हवेलिया ने बताया कि प्रतिदिन सुबह 11 बजे से रात नौ बजे तक जारी रहने वाले और एकदम फ्री इण्ट्री वाले इस मेले में जहां इस पुस्तक मेले में किताबों पर न्यूनतम 10 प्रतिशत तक छूट हर खरीदार को मिलेगी वहीं पुस्तक प्रेमियों को बहुत कुछ नया देखने को मिलेगा। मेले में पार्किंग की समुचित व्यवस्था रहेगी।

फोर्स वन बुक्स के साथ ओरिजिन्स, ट्रेड मित्र, विजय स्टूडियो, बिग एफ़एम , प्लांटीलो , स्टार टेक्नॉलजी और ज्वाइन हैण्ड्स फाउण्डेशन आदि के सहयोग से हो रहे मेले के बारे में यूपी त्रिपाठी ने बताया कि ‘विश्वम महोत्सव’ के अन्तर्गत विद्यार्थियों को पुस्तकों के प्रति लगाव पैदा करने के मकसद से शहर भर के अनेक स्कूल-कालेजों के विद्यार्थियों को मेले में आमंत्रित किया जा रहा है। यहां उनके विभिन्न कार्यक्रम भी और प्रतियोगिताओं का आयोजन भी होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments