Wednesday, April 24, 2024
HomePERSONALITYVidushi Kaushik: क्यों लाज़वाब हैं इंग्लिश ट्रेनर विदुषी कौशिक? |'English Warrior'!...

Vidushi Kaushik: क्यों लाज़वाब हैं इंग्लिश ट्रेनर विदुषी कौशिक? |’English Warrior’! में देखिए झलक

Vidushi Kaushik: सीखिए…सीखिए…सीखिए… कुछ भी सीखिए। ज़िंदगी सीखने का नाम है। नीचे की चंद लाइनें विदुषी की ज़ुबान से निकली हैं। ये लाइनें वायरल हो रही हैं और लोगों को मोटीवेट कर रही हैं। और ये चीख-चीखकर कह रही हैं कि सीखने के लिए जीतने की चाह ज़रूरी है। 

“काम ऐसा करो कि पहचान बन जाए।

हर कदम इस तरह चलो कि निशान बन जाए।।

यहां ज़िंदगी हर कोई बिता लेता है।

तुम जिओ इस क़दर कि निशान बन जाए।।”

Vidushi Kaushik: विदुषी कौशिक जानीमानी इंग्लिश ट्रेनर हैं। मोटीवेशनल स्पीकर हैं। एंटरप्रेन्योर हैं। हरियाणा, दिल्ली और पंजाब में फैले Ocean English Academy की फाउंडर हैं। इंग्लिश और हिंदी दोनों ही भाषाओं में जबर्दस्त कमांड है। ग्रेजुएट ड्रॉपआउट विदुषी यूपी बोर्ड की कॉलेज पासआउट हैं। 

Vidushi Kaushik: इंग्लिश की प्रख्यात ट्रेनर बनने से पहले विदुषी ने तीन साल तक अंग्रेजी (English) भाषा की पढ़ाई की। उसके बाद से वो अंग्रेजी (English) ही पढ़ा रही हैं। और ये सफ़र 10 साल से जारी है। आज तो उनकी पुस्तक “English Warrior: 90-Day Spoken English Course” बाज़ार में धूम मचा रही है। 

Vidushi Kaushik Teacher: 32 साल की विदुषी यूपी के सहारनपुर से हैं। हालांकि अब वो गुड़गांव में रहती हैं और कई राज्यों में अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट Ocean English Academy की डॉयरेक्टर हैं। इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर उनके लाखों फॉलोवर हैं। 

Vidushi Kaushik: जान लें कि विदुषी कौशिक ने भाषा प्रशिक्षण (English Training) के क्षेत्र में नौसिखिए की तरह अपना करियर शुरू किया था। गहन शोध से उन्होंने हिंदी-अंग्रेजी भाषा में महारत हासिल की। फिर इंग्लिश सीखने और सिखाने का अनूठा पाठ्यक्रम तैयार किया। आज वही अंग्रेजी सिलेबस लोगों को धाराप्रवाह अंग्रेजी बोलने वाला बना रहा है।  

Vidushi Kaushik Speaker: 10 साल से अधिक लंबे करियर में, विदुषी ने समय-समय पर यह कहकर अपनी प्रतिभा साबित की है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई कहां से आया है। यदि कोई व्यक्ति समर्पित है और कड़ी मेहनत करता है, तो वह किसी भी भाषा को जल्दी सीख सकता है और अपने करियर में सफ़लता की नई ऊंचाइयों को छू सकता है। 

Vidushi Kaushik English Trainer: विदुषी कौशिक ने सभी क्षेत्रों से कई प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित किया है और देश भर में विभिन्न स्थानों पर व्यक्तित्व विकास पर हज़ारों सेमिनार आयोजित किए हैं। वह उन हज़ारों उम्मीदवारों और पेशेवरों के लिए प्रेरणा रही हैं जिन्होंने अंग्रेजी भाषा में दक्षता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने साथ-साथ फैशन और इमेज कंसल्टिंग के क्षेत्र में भी काम किया है।

Vidushi Kaushik: भाषा सीखने के ज़ुनून ने उन्हें आसान तरीकों की खोज करने के लिए प्रेरित किया। 10 वर्षों से अधिक समय से विदुषी ने लाखों लोगों को ट्रेन किया। उन्हें इंंग्लिश पढ़ना-लिखना और बोलना सिखाया।

उन्होंने कॉरपोरेट जगत के लाखों लोगों को अपनी टीम के साथ ट्रेनिंग देकर उनके सफ़र को आगे बढ़ाया। अब उनकी पुस्तक “English Warrior: 90-Day Spoken English Course” धूम मचा रही है। 

विदुषी कौशिक के 13 मंत्र से सीखिए अंग्रेजी ज्ञान

Vidushi Kaushik Thinker: विदुषी कौशिक ने अपनी यूनिक स्टाइल में लोगों को ना सिर्फ अंग्रेजी भाषा की ऑनलाइन और ऑफलाइन का ज्ञान देती हैं, बल्कि यूट्यूब और इंस्टग्राम में उनके वीडियो फ्री में भी देखे जा सकते हैं। जिससे लोगों को राह ही नहीं मंज़िल भी मिल रही है।

अब जानिए विदुषी कौशिक (Vidushi Kaushik) के 13 मंत्र जो किसी भटके को रास्ता दिखा सकते हैं। उनकी दुनिया बदल सकते हैं। 

बता दें कि 32 साल की विदुषी कौशिक की 13 साल की तपस्या ही उनकी अंग्रेजी भाषा सीखने और सिखाने की उम्र है। जिसमें उन्होंने तीन साल तक खुद अंग्रेजी सीखी और अब 10 साल अंग्रेजी सिखाते हो गए। इस तरह से विदुषी का सफ़र 13 का हुआ और ये आगे भी जारी रहेगा।

  • अंग्रेजी चाय की प्याली है। यानी इसे आत्मसात करो।
  • अंग्रेजी में सोचो, हिंदी से अंग्रेजी में ट्रांसलेट करने की ग़लती ना करो।
  • इंग्लिश में सेंटेंस तैयार करो और अंग्रेजी में ही बोलो।
  • अंग्रेजी खुद सीखो और लोगों को सिखाओ।
  • यू आर द बेस्ट, अंग्रेजी आपके लिए है। हमेशा ध्यान रखो। 
  • बोलने से पहले क्या बोलना है, दिमाग में फीड कर लो।
  • वर्ड मीनिंग रटे नहीं, वाक्य बनाकर अंग्रेजी बोलें। बार-बार दोहराएं।
  • शुरुआत एक कदम से करिए, अंग्रेजी का सफ़र सोचकर घबराए नहीं। 
  • कसम खाएं कि अंग्रेजी में मास्टरी हासिल करके रहेंगे।
  • आगे बढ़ सकते हो, इस भरोसे के साथ बढ़ो और अंग्रेजी में ही जीना सीखें।
  • सोते-जागते, 24×7, सपने में भी इंग्लिश में ही रहना सीखें।
  • अंग्रेजी सुनिए और बोलिए, इमीटेट करते हुए भाषा सीखिए।
  • किसी के साथ अभ्यास करिेए, नहीं तो खुद ही सवाल-ज़वाब करिए। 

Vidushi Kaushik Writer: कहते हैं कि डर के आगे जीत होती है। और ये सच है। ऐसे में ना उम्र की परवाह करिए और ना ही हालात की। बस ठान लीजिए, कि अंग्रेजी सीखनी है। यकीन मानिए, साल भर मेहनत कर दीजिए और जिंदगी भर शर्मिंदा होने से बच जाइए।

कोई भी ज्ञान हो, तब तक हासिल नहीं होता, जब तक समर्पण ना हो। ऐसे में झिझक छोड़िए। अपने हालात पर रोना-धोना छोड़िए और ज़िंदगी के सफ़र में आगे बढ़ जाइए। ज़माना आपका इंतज़ार कर रहा है।

लब्बो-लुआब ये है कि विदुषी सिर्फ़ नाम होने से विदुषी नहीं बनीं। उन्होंने ज़िंदगी में छोटे-बड़े कई तरह के पापड़ बेले। यूपी के सहारनपुर से हरियाणा के गुड़गांव पहुंची और तरह-तरह का संघर्ष किया। आज वो अपने हाथों से बनाई करोड़ों की संपत्ति की मालकिन हैं। महंगी कारों में चलती हैं। हर महीने अपने सैकड़ों इंप्लाई को लाखों की सैलरी बांटती हैं।

Vidushi Kaushik: विदुषी के लाखों फॉलोअर हैं, जो देश-विदेश में फैले हैं। पाकिस्तान जैसे नफ़रत करने वाले देश में भी उनके मुरीद भरे-पड़े हैं। ये सब इसलिए है, क्योंकि उन्होंने ठान लिया था, कि कुछ बड़ा बनकर रहेंगी। और दिखा दिया। उन्होंने उस सपने को जीकर और तीन साल तक अंग्रेजी के सारे दांव-पेंंच सीखकर अपने को स्टील बना लिया। और बीते 10 सालों में तरह-तरह के रिसर्च करके अपने यूनिक अंदाज़ और अभियान के तहत लोगों को अंग्रेजी सिखा रही हैं। साथ ही इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स के क्षेत्र में अपना डंका बज़ा रखा है।

ऐसे में आप भी आलस छोड़िए। बड़े सफ़र के लिए पहला कदम बढ़ाइए। सफ़लता आपकी राह देख रही है। आपकी ज़ुबान भी अंग्रेजी बोलेगी।

Read More…

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments