Thursday, May 30, 2024
HomeENTERTAINMENTSHANE AWADH AWARD: 8 मार्च को सूर्या में सजेगी ‘एक शाम लखनऊ...

SHANE AWADH AWARD: 8 मार्च को सूर्या में सजेगी ‘एक शाम लखनऊ के नाम’, अनूप जलोटा को मिलेगा ‘शाने अवध अवॉर्ड’

हुनर क्रिएशन्स देगा जलोटा को ‘शाने अवध अवॉर्ड’

डॉ. हरिओम और अंकिता कपूर सजाएंगे महफिल

SHANE AWADH AWARD: हुनर क्रिएशन्स क्राफ्ट एसोसिएशन ने लखनऊ से रिश्ता रखने वाले पद्मश्री गायक अनूप जलोटा को ‘शान-ए-अवध अवॉर्ड’ से नवाजने का फैसला किया है।

अनूप जलोटा को सम्मान छावनी के सूर्या प्रेक्षागृह में आठ मार्च को आयोजित एक शाम लखनऊ के नाम कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मध्य कमान प्रमुख ले.जनरल एनएस सुब्रमण्यिन द्वारा दिया जायेगा। कार्यक्रम में उनके साथ ही आईएएस डा.हरिओम और गायिका अंकिता कपूर भी सुरों की महफिल सजाएंगे।

इस अवसर पर मध्य कमान के चीफ आफ स्टाफ ले.जनरल मुकेश चड्ढा और अन्य सैन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे। विशिष्ट अतिथि प्रमुख सचिव संस्कृति व पर्यटन मुकेश मेश्राम होंगे।

एसोसिएशन की बैठक के हुए निर्णय की जानकारी देते हुए सचिव जफर नबी ने बताया कि लखनऊ विभिन्न विचार धाराओं और संस्कृतियों का संगम रहा है।

हुनर क्रियेशन्स संस्था कला-संस्कृति में योगदान देने वाले प्रमुख कलाकारों को सम्मानित करने और नयी प्रतिभाओं का हुनर निखारने के मकसद से उन्हें प्रोत्साहित करने के साथ रोजगारोन्मुख नजरिये से काम कर रही है।

हमारी संस्था पहले सरोदवादक अमजद अली खां, संतूर वादक शिवकुमार शर्मा, हेमा मालिनी, रेखा भारद्वाज, सोनू निगम और तलत अजीज जैसे विश्वविख्यात कलाकारों को पिछले वर्षों के आयोजनों में अलंकृत कर चुकी है। विद्यार्थियों को प्रोत्साहन के लिये प्रतियोगिता और कारीगरों को रोजगार से जोड़ने और उन्हें साधन उपलब्ध कराने की दिशा में भी एसोसिएशन सक्रिय है।

एक शाम लखनऊ के नाम शीर्षित कार्यक्रम में अनूप जलोटा की गायकी का लुत्फ तो मिलेगा ही वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी डा.हरिओम और चर्चित युवा गायिका अंकिता कपूर भी सुरीले गीत प्रस्तुत करेंगी।

वॉयस ऑफ प्योरिटी 2013 और रेडियोसिटी सुपर सिंगर रनर अप 2013 रह चुकी अंतरा कपूर शान, उदित नारायण, विनोद राठौड़ जैसे गायकों के साथ मंच साझा कर ने के साथ दुनिया भर में डेढ़ हजार से अधिक कार्यक्रम कर चुकी हैं। अपनी कविता, शायरी और कहानी की अब तक सात किताबें लिख चुके प्रशासनिक अधिकारी डा.हरिओम अपनी कुछ गीत गजलें अपनी ही आवाज में पेश करेंगे।

एसोसिएशन की पूर्व की गतिविधियां इस बात का प्रमाण हैं कि वह अपने आयोजनों से अवध की वास्तविक संस्कृति को व्यापक स्तर पर प्रसारित करने के लिए प्रतिबद्ध है। लखनऊ और की संस्कृति और गौरव को रेखांकित करने वाला इस वर्ष का ये आयोजन इस दिशा में एक और उल्लेखनीय कदम होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments