Saturday, February 24, 2024
HomeWORLDINDIA POPULATIONS: हम नहीं चीन है नंबर ONE, 142 करोड़ हैं चीनी,...

INDIA POPULATIONS: हम नहीं चीन है नंबर ONE, 142 करोड़ हैं चीनी, भारत 139 करोड़ की आबादी के साथ नंबर दो पर

INDIA POPULATIONS: संसद में मोदी सरकार ने माना कि आबादी के मामले में भारत नहीं बल्कि चीन दुनिया का नंबर वन है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि चीन 142 करोड़ से अधिक है। वहीं भारत की आबादी भी 139 करोड़ से ज्यादा है।  

INDIA POPULATIONS केंद्र सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहाकि बीते एक जुलाई को देश की अनुमानित जनसंख्या 139,23,29,000 थी, जबकि चीन की जनसंख्या 142,56,71,000 थी।

INDIA POPULATIONS: केंद्र सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहाकि बीते एक जुलाई को देश की अनुमानित जनसंख्या 139,23,29,000 थी, जबकि चीन की जनसंख्या 142,56,71,000 थी। इस तरह से देखा जाए तो चीन की आबादी अब भी भारत से 3,33,48,000 ज्यादा है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कांग्रेस सांसद दीपक बैज के एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। बैज ने सवाल किया था कि क्या भारत दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन गया है? इसके जवाब में राय ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामले के विभाग के अनुमान के अनुसार एक जुलाई, 2023 को चीन की जनसंख्या 142,56,71,000 थी।

INDIA POPULATIONS: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कांग्रेस सांसद दीपक बैज के एक प्रश्न के लिखित उत्तर में ये जानकारी दी। बैज ने ये सवाल किया था कि क्या भारत दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाला देश बन गया है।

INDIA POPULATIONS: इसके जवाब में मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के राष्ट्रीय जनसंख्या आयोग द्वारा प्रकाशित जनसंख्या अनुमान संबंधी तकनीकी समूह की रिपोर्ट के अनुसार, एक जुलाई, 2023 को भारत की अनुमानित जनसंख्या 139,23,29,000 थी।

राय ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि देश में आजादी के बाद से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को छोड़कर जाति आधारित जनगणना नहीं हुई हैं। उनका यह भी कहना था कि कुछ राजनीतिक दलों और संगठनों ने जाति आधारित आंकड़ों की मांग की है।

जान लें कि इस समय दुनिया की आबादी  8 अरब से अधिक यानी 8,05,02,64,551 है।

INDIA POPULATIONS: दुनिया के देशों में जनसंख्या के मामले में अब भी चीन टॉप पर है। भारत दूसरे और यूएसए 34 करोड़ की आबादी के साथ तीसरे नंबर पर है। इंडोनेशिया 27.8 करोड़ के साथ चौथे और 24 करोड़ की जनसंख्या के साथ पाकिस्तान पाँचवें नंबर पर है।

इसी तरह से नाइजीरिया 22.4 करोड़ के साथ छठे और ब्राजील 21.6 करोड़ के साथ 7वें और 17.3 करोड़ की आबादी के साथ पाकिस्तान 8वें पायदन पर है।

वर्ष 2022 के आँकड़ों के मुताबिक दुनिया की आधी से अधिक आबादी एशिया में रहती है। चीन और भारत 2.8 बिलियन से अधिक लोगों के साथ दो सबसे अधिक आबादी वाले देश हैं।

INDIA POPULATIONS: संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, वैश्विक जनसंख्या को 7 अरब से 8 अरब तक बढ़ने में 12 साल लगे और वर्ष 2037 तक 9 अरब तक पहुँचने में इसे 15 साल लगेंगे।

यह इंगित करता है कि वैश्विक जनसंख्या की समग्र विकास दर धीमी हो रही है।

विश्व की जनसंख्या वर्ष 2030 में 8.5 बिलियन और वर्ष 2050 में 9.7 बिलियन तक पहुँच सकती है।

इसके वर्ष 2080 तक 10.4 बिलियन के साथ उच्च स्तर तक पहुँचने और वर्ष 2100 तक उसी स्तर पर बने रहने का अनुमान है।

वर्ष 2050 तक वैश्विक जनसंख्या में अनुमानित वृद्धि के आधे से अधिक की वृद्धि इन आठ देशों में केंद्रित होगी: कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य, मिस्र, इथियोपिया, भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान, फिलीपींस और संयुक्त गणराज्य तंज़ानिया।

उप-सहारा अफ्रीका के देशों द्वारा वर्ष 2050 तक प्रत्याशित वृद्धि में आधे से अधिक का योगदान किया जाने की संभावना है।

INDIA POPULATIONS: संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, भारत की प्रजनन दर प्रति महिला 2.1 जन्मों तक पहुँच गई है, अर्थात् प्रतिस्थापन स्तर की प्रजनन क्षमता में और भी गिरावट आ सकती है।

भारत की जनसंख्या वृद्धि स्थिर होने के बावजूद अभी भी 0.7% प्रतिवर्ष की दर से बढ़ रही है और वर्ष 2023 में इसकी आबादी दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश चीन से अधिक होने की संभावना है।

नायाब मिड्ढा

शिवरंजनी

क्षमा बिंदु

सबरीना सिद्दीक़ी

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments