Tuesday, June 25, 2024
HomeELECTIONINDIA ALLIANCE: विपक्षी गठबंधन INDIA (I.N.D.I.A) की टैगलाइन है जीतेगा भारत

INDIA ALLIANCE: विपक्षी गठबंधन INDIA (I.N.D.I.A) की टैगलाइन है जीतेगा भारत

INDIA ALLIANCE: विपक्षी गठबंधन INDIA (I.N.D.I.A) नाम ममता बनर्जी ने दिया। राहुल गाँधी ने समर्थन किया। इंडिया की टैगलाइन जीतेगा भारत।

WHAT IS INDIA? इंडिया का मतलब INDIAN NATIONAL DEVELOPMENTAL INCLUSIVE ALLIANCE है। इंडिया को भारतीय राष्ट्रीय विकासात्मक समावेशी गठबंधन कहेंगे।

INDIA ALLIANCE: एनडीए और बीजेपी से लड़ने के लिए विपक्षी गठबंधन INDIA (I.N.D.I.A)  ने ‘जीतेगा भारत’ को अपनी टैगलाइन बनाया है। इसी टैगलाइन का अलग-अलग भाषाओं में ट्रांसलेशन भी किया जाएगा। 

INDIA ALLIANCE: विपक्षी पार्टियों के गठबंधन का नाम INDIA रखने का प्रस्ताव पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रखा था। हालाँकि एएनआई के मुताबिक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस नाम पर सहमत नहीं थे, क्योंकि INDIA में NDA के लेटर्स भी आते हैं।

वहीं, कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि राहुल गांधी ने मीटिंग के दौरान बताया कि INDIA नाम क्यों रखा जाना चाहिए।

उधर, विपक्षी गठबंधन INDIA ने ‘जीतेगा भारत’ को अपनी टैगलाइन बनाया। इसी टैगलाइन का अलग-अलग भाषाओं में ट्रांसलेशन भी किया जाएगा।

न्यूज एजेंसी PTI ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि विपक्षी दलों की मीटिंग के दौरान कई नेताओं ने महसूस किया था कि गठबंधन के नाम में भारत भी होना चाहिए। इसके बाद इसे टैगलाइन में शामिल किया गया।

ममता बनर्जी और सोनिया गांधी एक-दूसरे के बगल में बैठी थीं। जुलाई 2021 के बाद ये उनकी दूसरी मुलाकात थी।

INDIA नाम पर नेताओं के बयान…

असम के CM हिमंता बिस्वा सरमा ने अपने ट्विटर बायो से इंडिया हटाकर भारत कर लिया। उनका कहना है कि अंग्रेजों ने हमारे देश का नाम इंडिया रखा था।

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा है कि भाजपा इंडिया नाम पर बेवजह विवाद पैदा कर रही है। भाजपा ने खुद मेक इन इंडिया और शाइनिंग इंडिया जैसी स्कीम निकाली हैं।

आप सांसद राघव चड्ढा ने कहा है कि अब इलेक्शन NDA बनाम INDIA होंगे और इनमें INDIA की जीत होगी। सीट शेयरिंग पर अगली मीटिंग में चर्चा होगी।

INDIA ALLIANCE: ANI ने सूत्रों के हवाले से बताया कि सोमवार को हुई अनौपचारिक मीटिंग में गठबंधन का नाम INDIA रखने का प्रस्ताव रखा गया था। सभी विपक्षी नेताओं से इस पर सुझाव मांगे गए थे। नीतीश कुमार शुरुआत में इस नाम से सहमत नहीं थे, लेकिन सभी की सहमति के बाद उन्होंने भी INDIA नाम को स्वीकार कर लिया।

मीटिंग के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश शामिल नहीं हुए थे। एजेंसी के मुताबिक खराब मौसम की प्रिडिक्शन के चलते नीतीश जल्दी चले गए थे, क्योंकि उन्हें एक कॉन्फ्रेंस में शामिल होना था। हालांकि, उनकी नाराजगी की खबरें भी आ रही हैं। 

काँग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि हम सरकार की नाकामियों को उजाकर करें। मैं खुश हूं कि राहुल, ममता सब सहमत हैं। 2024 में साथ लड़ेंगे और ग्रेट रिजल्ट लाएंगे।

खड़गे ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि हम सरकार की नाकामियों को उजाकर करें। मैं खुश हूं कि राहुल, ममता सब सहमत हैं। 2024 में साथ लड़ेंगे और ग्रेट रिजल्ट लाएंगे।

INDIA ALLIANCE: विपक्षी दलों के गठबंधन का नाम INDIA की फुल फॉर्म इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस है। इसका ऐलान कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने किया। उन्होंने कहा- समन्वय के लिए 11 सदस्यों की कमेटी और दिल्ली में एक कार्यालय जल्द बनाया जाएगा। इसकी घोषणा मुंबई में होने वाली हमारी अगली बैठक में होगी।

खड़गे ने कहा कि बीजेपी ने लोकतंत्र की सभी एजेंसियों ED, CBI आदि को नष्ट कर दिया है। हमारे बीच राजनीतिक भेद हैं, लेकिन हम देश को बचाने के लिए साथ आए हैं। इससे पहले हम पटना में मिले थे, जहां 16 पार्टियां मौजूद थीं। बैठक में 26 पार्टियों ने हिस्सा लिया।

INDIA ALLIANCE: सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विपक्षी मोर्चे के लिए ‘इंडिया’ (भारतीय राष्ट्रीय विकास समावेशी गठबंधन) नाम रखे जाने पर खुश नहीं है। बता दें, गठबंधन का यह नाम पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बेंगलुरु में आयोजित दूसरी विपक्षी बैठक के दौरान सुझाया था, जिसमें 26 विपक्षी दलों ने भाग लिया था।

INDIA ALLIANCE: नीतीश कुमार को INDIA नाम पर इसलिए एतराज था क्योंकि इसमें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के नाम के भी शब्द शामिल हैं।

INDIA ALLIANCE: विदुथलाई चिरुथिगल काची प्रमुख थोल थिरुमावलवन ने कहा कि ममता बनर्जी ने गठबंधन का यह नाम सुझाया है। लंबे समय तक चर्चा होने के बाद इंडिया यानी भारतीय राष्ट्रीय विकास समावेशी गठबंधन रखे जाने का फैसला लिया गया है। दूसरी ओर, कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि राहुल गांधी ने इंडिया नाम रखे जाने पर सही तर्क दिया। उन्होंने बताया कि गठबंधन का नाम इंडिया क्यों रखा जाए। बाद में सभी पार्टियों ने इसे मंजूरी दे दी और आगामी लोकसभा चुनाव इंडिया नाम से लड़ने का फैसला किया।

INDIA ALLIANCE बनने से कई बातें सामने आई हैं। 

  • गठबंधन ‘लोकतंत्र और संविधान’ की रक्षा करना चाहता है
  • चुनाव से पहले एक साझा मंच बनाने का लक्ष्य
  • निचले सदन की 301 सीटों में भाजपा की आधी से कम सीटें पार्टियों की हैं
  • भाजपा ने गठबंधन को भ्रष्ट अवसरवादी बताया
  • अगला चुनाव जीतने के लिए बीजेपी प्रबल दावेदार बनी हुई है

INDIA ALLIANCE: मंगलवार को एनडीए की बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहाकि “नकारात्मकता पर निर्मित” राजनीतिक गठबंधन कभी सफल नहीं हुए और 1998 में शुरू किए गए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) भाजपा की उपलब्धियों को याद किया।

भाजपा ने अपनी 25वीं वर्षगांठ मनाने के लिए कई वर्षों में पहली बार मंगलवार को राजधानी दिल्ली में एनडीए की बैठक आयोजित की और 38 दलों को इकट्ठा किया, जिनमें से कई छोटे समूह थे, जिनका क्षेत्रीय प्रभाव सीमित था।

2014 में मोदी के सत्ता में आने और 2019 में फिर से चुने जाने के बाद से एनडीए एक गठबंधन के रूप में कमजोर हो गया है, क्योंकि उन्होंने भाजपा को मजबूत जीत दिलाई, जिससे गठबंधन सहयोगियों का प्रभाव कम हो गया।

लेकिन स्थानीय मीडिया के राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि बीजेपी अब एनडीए को पुनर्जीवित कर रही है, क्योंकि वह तीसरा कार्यकाल जीतने के लिए कोई भी मौका नहीं छोड़ना चाहती है।

मोदी ने विपक्षी दलों का जिक्र करते हुए एनडीए बैठक में कहा, “हम भारत के लोगों को एकजुट करते हैं, वे भारत के लोगों को विभाजित करते हैं, वे भारत के सामान्य लोगों को कम आंकते हैं।”

मोदी ने कहा, “लोग देख रहे हैं कि वे एक साथ क्यों आ रहे हैं, कौन सा गोंद है जो उन्हें एक साथ ला रहा है।” “लोगों ने एनडीए को तीसरी बार जनादेश देने का मन बना लिया है।”

INDIA ALLIANCE: बेंगलुरू की बैठक में विपक्षी नेता इस बात को लेकर असमंजस में रहे कि पहले नाम किसके साथ आया। लेकिन सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस द्वारा आयोजित रात्रिभोज के बाद चुनिंदा नेताओं के समूह की बैठक हुई। इस समूह के बीच कई नाम उछाले गए।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने “भारत जोड़ो यात्रा” के दौरान “दो भारत” के बीच बढ़ती खाई पर जोर दिया था और कांग्रेस इसे संबोधित करने के लिए गठबंधन का नाम चाहती थी। सूत्रों ने कहाकि यह नाम समूह के अन्य लोगों को भी पसंद आया।

खासकर कई लोगों को लगा कि विपक्ष के लिए “राष्ट्रवाद” के मुद्दे को फिर से हासिल करने का समय आ गया है, जिस पर भाजपा का एकाधिकार रहा है। लेकिन विपक्षी समूह के अगुआ के रूप में न देखे जाने की कांग्रेस की वर्तमान रणनीति को ध्यान में रखते हुए, तृणमूल कांग्रेस को बैठक में नाम प्रस्तावित करने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

विचार-विमर्श का जोर एक ऐसा नाम चुनने पर था जो भाजपा के “राष्ट्रवाद” के आख्यान का प्रभावी ढंग से मुकाबला कर सके और इस प्रकार नाम – इंडिया (भारत) रखा गया।

बैठक में अन्य नामों पर विचार किया गया, जिनमें “प्रगतिशील पीपुल्स अलायंस”, “इंडियन पीपुल्स फ्रंट” और “पीपुल्स अलायंस फॉर इंडिया” शामिल थे।

INDIA का मुख्य उद्देश्य क्या है..

  • 2024 के आम चुनाव में बीजेपी को हराएं
  • भारत के संविधान की रक्षा करें
  • समावेशी विकास को बढ़ावा देना
  • भारत के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को कायम रखें

INDIA ALLIANCE: इससे पहले कांग्रेस के लीडरशिप में यूपीए, UPA (United Progressive Alliance) बना था। अब उसी की जगह पर INDIA  यानी INDIAN NATIONAL DEVELOPMENTAL INCLUSIVE ALLIANCE बना है। 

WHAT IS INDIA? इंडिया (INDIA) का मतलब INDIAN NATIONAL DEVELOPMENTAL INCLUSIVE ALLIANCE है। इंडिया को भारतीय राष्ट्रीय विकासात्मक समावेशी गठबंधन कहेंगे।

Read More: Vidushi KaushikRajya Sabha Election: राज्यसभा की 10 सीटों के लिए चुनाव 24 जुलाई को

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments