Thursday, May 30, 2024
HomeELECTIONUP Nikay Chunav: लखनऊ मेयर सीट पर भाजपा की सुषमा खरकवाल और...

UP Nikay Chunav: लखनऊ मेयर सीट पर भाजपा की सुषमा खरकवाल और समाजवादी पार्टी की वंदना मिश्र में कांटे की टक्कर

UP Nikay Chunav: लखनऊ में मेयर चुनाव में कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है। यहां बीजेपी की सुषमा खरकवाल और सपा की वंदना मिश्र के बीच जहां सीधी टक्कर दिख रही है। वहीं बीएसपी और कांग्रेस भी भी अपने उम्मीदवारों के जीत के दावे कर रही है। लखनऊ में 4 मई को चुनाव हो रहा है।

UP Nikay Chunav: बता दें कि यूपी निकाय चुनाव के पहले चरण में लखनऊ में चुनाव हो रहा है। यहां बीजेपी ने अपनी मेयर संयुक्ता भाटिया का टिकट काटकर सुषमा खरकवाल को मैदान में उतारा है। बीजेपी खरकवाल के जीत के दावे कर रही है। वहीं समाजवादी पार्टी अपने प्रत्याशी वंदना मिश्र को अभी से विजयी बता रही है। हालांकि चुनावी विशेषज्ञ बीजेपी और सपा प्रत्याशी के बीच कांटे की टक्कर मान रहे हैं।

UP Nikay Chunav: गौर करें तो लखनऊ नगर निगम में चुनावी शोर के बीच मतदाता खामोश हैं। मतदाताओं की चुप्पी सभी को बेचैन कर रही है। बीजेपी ने सुषमा खरकवाल पर दांव खेला है, वहीं सपा ने वंदना मिश्रा को मैदान में उतारा है। कांग्रेस से संगीता जायसवाल, बसपा से शाहीन बानो और आम आदमी पार्टी से अंजू भट्ट महापौर का चुनाव लड़ रही हैं।

ये जान लें कि बीजेपी ने इस निकाय चुनाव की सबसे हॉट सीट बन चुकी लखनऊ मेयर के लिये सुषमा खरकवाल को प्रत्याशी बनाया है। प्रेम खरकवाल की पत्नी सुषमा खरकवाल मौजूदा समय में बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी की सदस्य है। बीजेपी ने सुषमा के पक्ष में जमकर प्रचार किया और रोड शो भी किया। वहीं वंदना मिश्र राजनीतिक घरानों से ताल्लुक रखने वाली जानीमानी पत्रकार और समाजसेवी हैं।

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन समाजवादी पार्टी की महापौर प्रत्याशी श्रीमती वंदना मिश्रा ने पूरी ताकत झोंक दी। जगह-जगह रोड शो, पदयात्रा में शामिल हुईं। वहीं बीएसपी, कांग्रेस, आप और अन्य पार्टियों के उम्मीदवारों ने जगह-जगह रोड शो कर वोट देने की अपील की।

BJP ही बना पाएगी लखनऊ को आदर्श शहर : डॉ. शालिक राम पाण्डेय

डॉ. शालिक राम पाण्डेय, पर्यटन संस्थान, लखनऊ विश्वविद्यालय
  • जब तक विकास समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक नहीं पहुंचेगा, तब तक राष्ट्र का विकास नहीं होगा: पंडित दीनदयाल उपाध्याय

  • भाजपा सरकार पंडित दीनदयाल के संकल्प पर कर रही है काम 

  • सुषमा खरकवाल अगर मेयर बनती हैं तो लखनऊ एक आदर्श शहर के रूप में होगा विकसित 

  • सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास: बीजेपी के जीतने से ही पीएम मोदी का पूरा होगा ये संकल्प

UP Nikay Chunav: लखनऊ में चल रहे चुनाव पर भारतीय संस्कृति और इतिहास पर निरंतर शोध कार्य कर रहे लखनऊ विश्वविद्यालय के पर्यटन विभाग से संबद्ध डॉ. शालिक राम पाण्डेय ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के विचारों का हवाला देते हुए कहाकि पंडित जी का मानना था कि जब तक समाज के अंतिम पायदान पर स्थित व्यक्ति तक विकास नहीं पहुंचेगा, तब तक राष्ट्र का विकास नहीं होगा। और भाजपा सरकार इसी पर काम कर रही है।

उन्होंने कहाकि सुषमा खरकवाल अगर लखनऊ की मेयर बनती है तो लखनऊ एक आदर्श शहर के रूप में ज़रूर विकसित होगा। वो ये दावा करते हैं कि लखनऊ में रहने वाले 5 लाख पहाड़ी वोटरों के साथ पूरा शहर उनके साथ जुड़ा हुआ है। इसका नज़ारा 4 मई को पोलिंग बूथों पर दिखेगा।

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के नारे को याद दिलाते हुए कहाकि ‘सबका साथ, सबका विश्वास और सबका विकास’ तभी होगा, जब केंद्र, राज्य और स्थानीय स्तर पर बीजेपी की सरकार होगी। पीएम मोदी के इस ध्येय को बीजेपी ही पूरा कर सकती है। और इसी सूत्र वाक्य पर बीजेपी सरकार काम कर रही है। ऐसे में सुषमा खरकवाल अगर लखनऊ की मेयर बनती हैं तो लखनऊ एक आदर्श शहर के रूप में विकसित होगा। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए डॉ. पाण्डेय कहते हैं कि बीजेपी राम राज्य स्थापित करने के संकल्प को पूरा करने में जुटी हुई है।

डॉ. शालिक ने लखनऊ के इतिहास के बारे में बताते हुए कहाकि ये प्राचीन कोसल राज्य का हिस्सा था। यह भगवान राम की विरासत थी, जिसे उन्होंने अपने भाई लक्ष्मण को समर्पित कर दिया था। यहां से राम की नगर अयोध्या मात्र 80 मील दूर है। ऐसे में यहां से बीजेपी उम्मीदवार सुषमा खरकवाल को जीतना ज़रूरी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments