Wednesday, May 29, 2024
HomePERSONALITYShyamala Soundari Kuppusamy: श्यामला सुंदरी कुप्पासामी ने अमेरिका में दिखाया भारत (INDIA)...

Shyamala Soundari Kuppusamy: श्यामला सुंदरी कुप्पासामी ने अमेरिका में दिखाया भारत (INDIA) का दम

Shyamala Soundari Kuppusamy: कहते हैं कि इंसान के अंदर अगर कुछ ख़ास करने का जज्बा हो तो गरीबी और पिछड़ापन उसका कुछ भी बिगाड़ नहीं पाती। और सफलता उसके कदम चूमती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है भारत की बेटी श्यामला सुंदरी कुप्पासामी (Shyamala Soundari Kuppusamy) ने। तमिलनाडु के तेनी (Theni) जिले के एक छोटे से कस्बे पेरियाकुलम (Periyakulam) में पैदा हुई श्यामला ने USA में सफलता के कई सोपान चढ़कर बिज़नेस जगत के कई अवॉर्ड जीते और भारतीय तिरंगे का मान बढ़ाया है।

कहते हैं कि इंसान के अंदर अगर कुछ ख़ास करने का जज्बा हो तो गरीबी और पिछड़ापन उसका कुछ भी बिगाड़ नहीं पाती। और सफलता उसके कदम चूमती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है भारत की बेटी श्यामला सुंदरी कुप्पासामी (Shyamala Soundari Kuppusamy) ने। तमिलनाडु के तेनी (Theni) जिले के एक छोटे से कस्बे पेरियाकुलम (Periyakulam) में पैदा हुई श्यामला ने USA में सफलता के कई सोपान चढ़कर बिज़नेस जगत के कई अवॉर्ड जीते और भारतीय तिरंगे का मान बढ़ाया है।

भारत के तमिलनाडु के एक छोटे से कस्बे में पैदा हुई श्यामला सुंदरी कुप्पासामी ने ना सिर्फ अपना नाम दुनिया भर में रौशन कर रही हैं, बल्कि अपने मुल्क भारत का नाम भी ऊंचा कर रही हैं। कई सालों से कदम-कदम पर सफलता की इबारत लिख रहीं श्यामला को प्रतिष्ठित अमेरिकन बिजनेस अवॉर्ड से नवाजा गया है। Shyamala Soundari Kuppusamy को एक्जीक्यूटिव ऑफ द ईयर अवॉर्ड भी मिला है। श्यामला को ये अवॉर्ड उन्हें उनकी विश्व प्रसिद्ध रिटेलर कंपनी Lowes Inc में प्रोडक्ट मैनेजमेंट में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया गया। यहां उन्होंने अपनी टीम के साथ कंपनी के प्राफिट को 100 फीसदी तक बढ़ा दिया था।

ई-कॉमर्स टेक्नोल़ॉजी प्रोडक्ट मैनेजमेंट ग्लोबल एक्सपर्ट (Ecommerce Technology Product Management Global Expert) के रूप में ख्याति बटोरी।

बिजनेस के क्षेत्र में ऑस्कर कहे जाने वाले Stevie American Business Awards में Product Management Executive of the Year का Award जीता। ख़ास बात ये थी कि इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड के लिए दुनिया भर के 75 से अधिक देशों के 12,000 नॉमिनेशन आए थे।

बता दें कि तमिलनाडु (Tamilnadu) के तेनी (Theni) जिले के पिछड़े इलाके पेरियाकुलम (Periyakulam) कस्बे (Town) में पली-बढ़ी श्यामला सुंदरी कुप्पासामी उस समाज में पैदा हुईं, जहाँ पर परिवार में लड़की पैदा होने को ही अभिशाप (Curse) माना जाता था। मगर श्यामला की माँ ने तमाम मुश्किलों को झेलते हुए अपनी बेटी का दाखिला स्कूल में कराया। कहते हैं कि हर सफल व्यक्ति के पीछे कोई ना कोई कहानी होती है। किसी ना किसी का हाथ होता है। श्यामला के साथ भी उनकी माँ का साथ था। उनका भरपूर आशीर्वाद था।

बस क्या था, श्यामला सुंदरी स्कूल के समय से ही सफलता की सीढ़ियां चढ़ती चली गईं। अपनी स्कूलिंग के दौरान श्यामला अपनी कक्षा में हमेशा टॉप करती रही।

इंटरमीडिएट में डिस्ट्रिक्ट लेवल पर टॉपर बनने पर श्यामला को फोर्ड ने FAEA की स्कॉलरशिप दी। श्यामला ने बेचलर ऑफ इंजीनियरिंग (B.E.) की डिग्री गुइंडी कॉलेज, अन्ना यूनिवर्सिटी तमिलनाडु (College of Engineering, Guindy, Anna University, Tamilnadu) से की। मेरीटोरियस छात्रा होने की वजह से श्यामला को डिग्री के दौरान फुल मेरिट फेलोशिप मिलती रही।

इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद श्यामला ने रिटेल प्रोडक्ट मैनेजर (Retail Product Manager) के रूप में कॉरपोरेट की दुनिया में कदम रखा। और भारत, यूके, दुबई और यूएसए की जानीमानी कंपनियों में रिटेल प्रोडक्ट मैनेजर के रूप में अपनी अमिट छाप छोड़ी।

Ecommerce Technology Product Management Global Expert के रूप में उन्होंने टॉप मल्टीनेशनल कंपनी Sainsbury’s, Marks & Spencers, Al Futtaim, Sears, Toys’R Us, Walgreens, Macys आदि संस्थानों में काम किया।

इतना ही नहीं कुप्पासामी ने Harvard Business School, USA से Executive education हासिल की। इसके बाद करियर की दौड़ में बहुत आगे बढ़ गईं।

बता दें कि श्यामला को कैलिफोर्निया के स्टैनफोर्ड बिजनेस स्कूल में एमबीए करने के लिए रिलायंस फाउंडेशन की ओर से स्कॉलरशिप मिली। मगर व्यक्तिगत कारणों से श्यामला ने अपने करियर को ही आगे बढ़ाया। और तब से वो निरंतर सफलता की सीढ़ियां चढ़ती जा रही हैं।

Shyamala Soundari Kuppusamy: बीते एक दशक से अधिक समय से दौरान श्यामला को दुनिया भर में कई सम्मान और अवॉर्ड मिले।

Shyamala Soundari Kuppusamy ने अब तक के अपने करियर में काफी कुछ पाया और आगे भी बहुत कुछ हासिल करेंगी। मगर, उनमें इंसानियत कूट-कूटकर भरी हुई हैं। वो आज भी अपना बचपन और वो पुराने दिन नहीं भूली हैं और ना ही आगे वो इसे भूलना चाहती हैं। वो गरीब बच्चों के लिए मदद का जज्बा रखती हैं। श्यामला खुद और एनजीओ की मदद से गरीब बच्चों की आर्थिक मदद करने में भी लगी रहती हैं।

Shyamala Soundari Kuppusamy ने अब तक के अपने करियर में काफी कुछ पाया और आगे भी बहुत कुछ हासिल करेंगी। मगर उनमें इंसानियत कूट-कूटकर भरी हुई हैं। वो आज भी अपना बचपन और वो पुराने दिन नहीं भूली हैं। और ना ही आगे वो इसे भूलना चाहती हैं। वो गरीब बच्चों के लिए मदद का जज्बा रखती हैं। श्यामला खुद और एनजीओ की मदद से गरीब बच्चों की आर्थिक मदद करने में लगी रहती हैं।

बता दें कि श्यामला सुंदरी कुप्पासामी (Shyamala Soundari Kuppusamy) इस समय टॉप 50 फॉर्च्यूनर कंपनी में शामिल Lowe’s Companies Inc में E-Commerce Technology Product Management की सीनियर डॉयरेक्टर हैं। इसके अलावा E-PACK US Conference के एडवॉइजरी बोर्ड में भी शामिल हैं। इन सब के साथ ही श्यामला ने E-Commerce के क्षेत्र में मास्टरी हासिल कर ली है। वो E-Commerce के फील्ड में एक्पर्ट हैं।

अपने बारे में जिक्र करने पर Shyamala Soundari कहती हैं कि अच्छा प्रोडक्ट बनाकर कंज्यूमर की उम्मीदों पर खरा उतरने की वो लगातार कोशिश करती हैं। उन्होंने कहाकि उनका और उनकी कंपनी का यही मकसद है कि उनके प्रोडक्ट को देखकर या यूज करने पर उपभोक्ता (Consumers) के चेहरे पर मुस्कान आ जाए। वो गर्व से कहती हैं प्रोडक्ट की क्वॉलिटी और कंज्यूमर की संतुष्टि (Satisfaction) ही उनका मकसद है। और वो इस कसौटी पर हमेशा ही खरा उतरने की भरपूर कोशिश करती हैं।

ये पूछने पर कि E-Commerce Business  के क्षेत्र में अक्सर अवॉर्ड और सम्मान (Award & Honour) मिलने पर वो कैसा महसूस करती हैं। इस पर चेहरे पर मुस्कान बिखेरती हुए श्यामला कहती हैं कि पूरा बचपन संघर्षों (Struggles) में बीता। इन्हीं संघर्षों के बीच समर्पण (Dedication) के साथ कठिन परिश्रम (Hard Work) करना सीखा और आज भी वो जज़्बा (Emotion) कायम है। जिसकी वजह से वो अपने Project को पूरा करने में जी-जान लगा देती हैं। और कंपनी के Product को बेहतर बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ती। ऐसे में जब सम्मान और अवॉर्ड मिलता है तो उन्हें अपार खुशी (Huge Pleasure) होती है।

गरीब बच्चों और महिलाओं की बेहतरी के लिए किए गए उनके प्रयास के बारे में पूछने पर बिजनेस एक्सपर्ट श्यामला कहती हैं कि गरीब और बेसहारा बच्चों के एजुकेशन में वो हमेशा मदद करती हैं। इतना ही नहीं उनकी आर्थिक मदद (Monetary Help) के साथ ही उन्हें मोटीवेट करने में वह सुकून महसूस करती हैं। भारत की ये बेटी श्यामला अपने देश (India) के साथ ही दुनिया (World) भर में महिला सशक्तीकरण (Women Empowerment) के लिए काम कर रही हैं और उनके उत्थान के लिए कई अभियान का हिस्सा भी बनी हुई हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments