Saturday, June 22, 2024
HomeBIG STORYNijjar Canada Case: अमेरिका बोला- कनाडा में निज्जर हत्याकांड की जांच हो

Nijjar Canada Case: अमेरिका बोला- कनाडा में निज्जर हत्याकांड की जांच हो

G20 समिट में अमेरिका-ब्रिटेन ने पीएम मोदी के सामने उठाया था मामला

Nijjar Canada Case: कनाडा में खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर के खून के मुद्दे पर भारत और कनाडा के बीच तनाव बढ़ गया है। इस बीच अमेरिकी भी रोटी तोड़ने के लिए इसमें कूद पड़ा है।

हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मुद्दे पर गुरुवार को अमेरिका के नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर (NSA) जेक सुलिवन ने व्हॉइट हाउस में मीडिया से कहाकि वह इस हत्या के मामले में भारत के खिलाफ जांच में कनाडा के प्रयासों का भरपूर समर्थन करते हैं।

सुलिवन ने आगे कहा- कोई भी देश हो, इस तरह के कामों के लिए किसी को भी स्पेशल छूट नहीं मिलेगी। इधर फाइनेंशियल टाइम्स ने दावा किया है कि G20 समिट के दौरान बाइडेन समेत फाइव आइज देशों ने कनाडा के आरोपों पर चिंता जताई थी। इन देशों के प्रमुखों ने PM नरेंद्र मोदी के सामने निज्जर की मौत का मुद्दा उछाला था।

फाइव आइज इंटेलिजेंस शेयरिंग अलायंस है। इसमें शामिल अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और कनाडा आपस में खुफिया सूचनाएं साझा करते हैं। कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने 18 सितंबर को निज्जर की हत्या में भारत सरकार के एजेंटों की संलिप्तता का आरोप गढ़ा था। भारत ने ट्रूडो के दावों को बेतुका कहकर सिरे से खारिज कर दिया था।

कनाडा के PM ट्रूडो ने 18 सितंबर को वहां की संसद में खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या पर बयान दिया था। इसमें उन्होंने भारत पर हत्या में शामिल होने का दमदार आरोप लगाया था।

अमेरिका के NSA सुलिवन ने गुरुवार को कहा- जैसे ही हमने कनाडाई प्रधानमंत्री से आरोपों के बारे में सार्वजनिक रूप से सुना, हम स्वयं सार्वजनिक रूप से सामने आए और उनके बारे में अपनी गहरी चिंता व्यक्त की, जो कुछ हुआ उसकी तह तक जाने के लिए हम कनाडा का पूरा समर्थन करते हैं।

सुलिवन ने कहा, यह हमारे लिए चिंता का विषय है। यह ऐसी चीज है जिसे हम गंभीरता से लेते हैं। हम अपने बुनियादी सिद्धांतों की रक्षा करेंगे। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा था कि इस मुद्दे पर अमेरिका और कनाडा के बीच मतभेद चल रहा है। सुलविन ने इन आरोपों को एक सिरे से खारिज कर दिया।

सुलिवन ने कहा- कनाडा ने जो आरोप लगाए हैं। हम चाहेंगे कि इस जांच को आगे बढ़ाया जाए और अपराधियों को दंड दिया जाए। सार्वजनिक रूप से यह बात सामने आने के बाद से ही अमेरिका इसी बात पर कायम है। मैं डिप्लोमेट्स के बीच निजी बातचीत के बारे में नहीं बताने जा रहा हूं, लेकिन हम अपने कनाडाई समकक्षों के साथ लगातार संपर्क में हैं। हम उनके साथ करीबी तौर पर परामर्श कर रहे हैं।

सुलिवन ने जनवरी में राष्ट्रपति जो बाइडन की संभावित भारत यात्रा पर एक सवाल का जवाब देने से भी इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, इस वक्त मेरे पास इस तरह की कोई जानकारी नहीं है कि अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन जनवरी या उसके आसपास भारत यात्रा पर जाएंगे।

भारत में अमेरिकी राजदूत एरिक गार्सेटी ने 20 सितंबर को कहा था कि जी-20 समिट से इतर प्रधानमंत्री मोदी ने द्विपक्षीय बैठक के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को अगले साल 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया है।

कनाडा में मौजूद भारत के वीजा एप्लिकेशन सेंटर ने गुरुवार को कनाडा के लोगों के लिए वीजा सेवाएं सस्पेंड कर दीं। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कहाकि कनाडा में हमारे डिप्लोमैटिक यूनिट को धमकियां मिल रही हैं। वे अपना काम नहीं कर पा रहे हैं। यही वज़ह है कि वीजा सर्विसेज सस्पेंड की गई हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments