Friday, February 23, 2024
HomeINDIAMuskuraye Lucknow: मैं नहीं हम बनकर खुशियाँ बिखेरेगा मुस्कुराए लखनऊ चैप्टर 

Muskuraye Lucknow: मैं नहीं हम बनकर खुशियाँ बिखेरेगा मुस्कुराए लखनऊ चैप्टर 

Muskuraye Lucknow: सामाजिक, साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संगठन मुस्कुराए लखनऊ चैप्टर का शुभारम्भ

Muskuraye Lucknow: मुस्कुराए उत्तर प्रदेश की ओर से तीन सितंबर रविवार को मुस्कुराए लखनऊ चैप्टर का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर लखनऊ मेट्रो के साथ मिलकर आयोजित मुस्कुराए लखनऊ परिचर्चा में समाज के विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिनिधियों ने जीवन में उम्मीद से भरे मुस्कुराते अनुभवों को साझा किया।

मुस्कुराए लखनऊ की ओर से आयोजित परिचर्चा में मुस्कुराए उत्तर प्रदेश फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ सिधांशु राय ने बताया कि संस्था समाज के प्रत्येक क्षेत्र में अपना योगदान दे रही है। फिर चाहे छात्रों को करियर में दिशा देने का कार्य हो या फिर शहर की समस्याओं को दूर करने के लिए छोटे- छोटे प्रयास हों। प्रदेश में स्टार्टअप से लेकर पर्यटन को बढ़ावा देने में संस्था निरंतर प्रयासरत है।

प्रदेश के भाजपा सह प्रभारी डॉ संजय शुक्ल ने कहाकि उत्तर प्रदेश निरंतर प्रगति के पथ पर बढ़ रहा है। समस्या को अब समस्या नहीं बने रहने दिया जाता है, बल्कि उनका तत्काल निस्तारण होता है, जिससे लोगों के चेहरों पर मुस्कान आ रही है। 

लखनऊ मेट्रो के उप महाप्रबंधक पंचानन मिश्रा ने कहाकि मुस्कुराए लखनऊ एक अभियान है, जिससे सभी जुड़े हैं। मेट्रो का भी उद्देश्य यात्रियों के चेहरे पर मुस्कान बिखेरना है। यह प्रयास निरंतर जारी है। जाने- माने कवि और व्यंग्यकार सूर्य कुमार पाण्डेय ने कहाकि मुस्कुराने से न सिर्फ हम प्रसन्न होते हैं, बल्कि सामने वाले के चेहरे पर भी ख़ुशी बिखेर देते हैं। बॉडीलाइन के निदेशक और स्पोर्ट्स मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. सरनजीत सिंह ने फिटनेस मन्त्र दिया।

फ़िल्मकार नितिन मिश्र ने बताया कि लखनऊ अब फिल्म इंडस्ट्री के महत्वपूर्ण अंग के रूप में उभर रहा है। लोगों को इससे रोज़गार भी मिल रहा है। असहाय वृद्धों के लिए कार्य कर रही पूनम अद्वैत ने मानव मात्र की सेवा को मुस्कुराहट का सबसे बड़ा कारण बताया।

आर्ट ऑफ लिविंग की अंजली सेठ ने जीवन जीने की कला बताई। वरिष्ठ साहित्यकार अलका प्रमोद ने शहर लखनऊ से रू- ब- रू कराया। 

मुस्कुराए लखनऊ के संयोजक मनीष शुक्ल।

मुस्कुराए यूपी की अध्यक्षा वंदना निगम ने कहाकि संस्था का मक़सद लोगों की मदद कर उनके चेहरे पर मुस्कान लाना है। 

मुस्कुराए लखनऊ के संयोजक मनीष शुक्ल ने कहाकि संस्था मैं नहीं हम की भावना से कार्य कर रही है। श्री शुक्ल ने कहाकि ये संगठन सामाजिक, सांस्कृतिक, साहित्यिक के साथ ही कई क्षेत्र के लोगों को जोड़ने में पुल का कार्य करेगी।  

कार्यक्रम का संचालन सीनियर एंकर शिखा मल्होत्रा ने किया। 

समारोह में महासचिव डॉ कामायनी शर्मा ने ज्वेलबॉक्स समेत सभी सहयोगियों का आभार जताया। 

कार्यक्रम में नृत्य विधा में रिकार्ड होल्डर गिन्नी सहगल, आरजे ज़रीन, वरिष्ठ पत्रकार नितिन कुमार, नेशनल स्विमिंग कोच प्रशांत कुमार, स्तंभकार अरविन्द जयतिलक, समाजसेवी महेंद्र मिश्रा, हितेश चांदना, आई पी पाण्डेय, अनिल सिंह और ज्वेलबॉक्स से आशीष समेत कई लोगों को सम्मानित किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments