Saturday, March 2, 2024
HomeWORLDINDIA POPULATION: भारत टॉप पर, जनसंख्या 142 करोड़ के पार; चीन ...

INDIA POPULATION: भारत टॉप पर, जनसंख्या 142 करोड़ के पार; चीन खिसक कर नंबर दो पर पहुंचा

INDIA FLAG

INDIA POPULATION: भारत दुनिया में अब सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन गया। यूनाइटेड नेशंस पॉपुलेशन फंड (UNFPA) की रिपोर्ट के मुताबिक अब भारत की जनसंख्या 142 करोड़ 86 लाख है। वहीं चीन की जनसंख्या 142 करोड़ 57 लाख है। यानी हमारी आबादी चीन से करीब 30 लाख ज्यादा है।

INDIA POPULATION: साल 2023 की शुरुआत में ही ग्लोबल एक्सपर्ट्स ने अनुमान लगाया था कि इस साल भारत सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन जाएगा। UN साल 1950 से दुनिया में आबादी से जुड़ा डेटा जारी कर रहा है। तब से यह पहला मौका है जब भारत की आबादी चीन से ज्यादा हुई।

चीन में वर्ष 1950 के बाद से जन्म दर में लगातार बढ़ोतरी हो रही थी। पिछले साल इसमें कमी आई। 2021 में चीन की जन्म दर 7.52% थी। यह 2022 में घटकर 6.77% हो गई।

INDIA POPULATION: चीन में एवरेज लाइफ एक्सपेक्टेन्सी भारत से बेहतर है। चीन में पुरुषों की औसत उम्र 76 साल और महिलाओं की औसत उम्र 82 साल है। वहीं भारत में पुरुषों की औसत उम्र 74 साल और महिलाओं की औसत उम्र 71 साल है।

UNFPA इंडिया के प्रतिनिधि एंड्रिया वोज्नार ने कहा कि भारत एक शक्तिशाली देश है। शिक्षा,  स्वास्थ्य,  स्वच्छता और आर्थिक विकास के मामले में यह लगातार आगे बढ़ रहा है। हम तकनीकी मामले में हर रोज नए-नए रिकॉर्ड्स बना रहे हैं।

2022 में जारी एक रिपोर्ट में चीन के मुकाबले भारत की आबादी से जुड़े अनुमान सामने आए थे।

CHINA POPULATION

चीन में 65 साल से ज्यादा उम्र वाले भारत से दोगुने हैं। भारत में 14 साल तक की उम्र वाली 25% यानी 35 करोड़ आबादी है। चीन में यह आंकड़ा 17% यानी 24 करोड़ है।

भारत में 15 से 64 साल उम्र वाले 68% यानी 97 करोड़ लोग हैं। चीन में यह आंकड़ा 69% यानी 98 करोड़ है।

भारत में 65 साल से ज्यादा उम्र के 7% यानी 10 करोड़ लोग हैं। वहीं,  चीन में यह आंकड़ा 14% यानी 20 करोड़ है।

आंकड़े जारी करने के बाद UNFPA की मीडिया ए़डवाइजर एना जेफरीज ने कहा- ये साफ नहीं है कि भारत की जनसंख्या चीन से कब आगे निकली। दोनों देशों के आंकड़े जारी करने के समय में काफी अंतर है तो इसका अनुमान लगाना मुश्किल है।

हम यही बता सकते हैं कि चीन की जनसंख्या पिछले साल पीक पर थी जिसके बाद इसमें साढ़े 8 लाख की गिरावट आई थी। वहीं इसके उलट भारत में पॉपुलेशन लगातार बढ़ रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments