Friday, February 23, 2024
HomeBIG STORYG20 India Summit: नई दिल्ली घोषणापत्र को अपनाया गया, यूक्रेन में शांति...

G20 India Summit: नई दिल्ली घोषणापत्र को अपनाया गया, यूक्रेन में शांति पर जोर

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की मेज़बानी में भव्य रात्रिभोज

G20 India: जी-20 के सम्मेलन में नई दिल्ली घोषणापत्र को अपनाया गया। यूक्रेन में शांति का आह्वान किया गया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की मेज़बानी में भव्य रात्रिभोज किया गया।

जी20 सम्मेलन की बैठक भारत मंडपम में चल रही है। पीएम मोदी ने समिट का उद्घाटन करते हुए वैश्विक मुद्दों पर बात की। इस दौरान भारत की अध्यक्षता में ही जी20 में अफ्रीकी यूनियन को शामिल करने का एलान किया गया। इसके बाद बंद दरवाजे के पीछे जी20 की बैठक हुई। 

जी20 शिखर सम्मेलन में रूस-यूक्रेन युद्ध पर प्रमुख मतभेदों को दूर करते हुए शनिवार को सदस्यों देशों ने ‘नई दिल्ली लीडर्स समिट डिक्लेरेशन’ को अपनाया। यह भारत के लिए एक महत्वपूर्ण कूटनीतिक कामयाबी है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक विश्वास की कमी को समाप्त करने का आह्वान किया। इस मौके पर मोदी ने यह भी घोषणा की कि अफ्रीकी संघ को जी20 के स्थायी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है।

राष्ट्रपति मुर्मू की ओर से भव्य रात्रिभोज का आयोजन किया गया। इसमें जी20 नेता व प्रतिनिधि मौजूद हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत सभी केंद्रीय मंत्री व अन्य अतिथि भी कार्यक्रम में मौजूद हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज़ इनासियो लूला दा सिल्वा, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, विश्व बैंक के अध्यक्ष अजय बंगा के साथ एक तस्वीर ली। उन्होंने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर पोस्ट भी किया है। जिसमें उन्होंने लिखा कि अपने सदस्यों की सामूहिक प्रतिबद्धता के तहत G 20 वैश्विक भलाई के लिए अपने मिशन में दृढ़ है।

गृह मंत्री अमित शाह ने जी-20 शिखर सम्मेलन में जी-20 नई दिल्ली घोषणा पत्र को अपनाए जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और समूह के नेताओं को बधाई दी। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जी-20 के सदस्य देशों को नई दिल्ली जी-20 घोषणा पत्र को अपनाने के लिए हार्दिक बधाई।

उन्होंने आगे कहा, मानव जाति के कल्याण को बढ़ावा देने के हमारे सभ्यतागत लक्ष्य की खोज में, सम्मानित जी-20 नेता कूटनीति और सहयोग के माध्यम से राष्ट्रों के बीच विश्वास के पुल बनाने के लिए आम सहमति पर पहुंचे हैं। यह सभी के बेहतर भविष्य की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

अमित शाह पीएम मोदी के उस पोस्ट पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें उन्होंने कहा था, नई दिल्ली लीडर्स डिक्लेरेशन को अपना कर इतिहास रचा गया है। सर्वसम्मति और उत्साह से एकजुट होकर, हम बेहतर, अधिक समृद्ध और सामंजस्यपूर्ण भविष्य के लिए सहयोगात्मक रूप से काम करने का संकल्प लेते हैं। जी-20 के सभी सदस्यों के समर्थन और सहयोग के लिए उनके प्रति आभार।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments